गुलाब जामुन बनाने की विधि | Gulab Jamun Recipe in Hindi

आज हम बिना खोए के स्वादिष्ट और सभी की मनपसंद मिठाई Gulab Jamun Recipe in Hindi लेकर उपस्थित हुए हैं। इस गुलाब जामुन बनाने की विधि से जब भी आपका मन करे,बिल्कुल हलवाई की तरह ही आप गुलाब जामुन घर पर बनाकर कहा सकते हैं।


गुलाब जामुन बनाने की विधि


गुलाब जामुन बनाने की विधि


मिठाइयां किसे पसन्द नहीं होती, खासकर बच्चों को। मिठाई की दुकान दिखी नहीं कि बच्चे मिठाइयों के लिये जिद करने लग जाते हैं। ऐसे में यदि आप घर पर ही उनकी ये विश पूरी कर दें तो?

चलिए फिर आज बच्चों तथा बड़ों की इस पसन्द को ध्यान में रखते हुए फॉलो करते हैं Gulab Jamun Recipe in Hindi।

  • व्यंजन का नाम – गुलाब जामुन
  • बनने में समय – लगभग 1 घण्टा
  • क्वांटिटी – 18 से 20 पीस

गुलाब जामुन बनाने के लिए आवश्यक सामग्री


गुलाब जामुन बनाने के लिए हमे चाहिए-

  1. दूध – 1/2 कप
  2. घी – 1/4 कप
  3. दूध पाउडर – 1.5 कप
  4. इलाइची – 4-5
  5. गुलाब जल – 2 चम्मच
  6. चीनी – 3 कप
  7. मैदा – 3 से 4 बड़े चम्मच
  8. बेकिंग पाउडर – 1/4 चम्मच

Gulab Jamun Recipe in Hindi


हर फेस्टिवल और खास मौकों पर मिठाई तो सभी खाते हैं। लेकिन यदि मिठाई घर पर ही बनी हो तो उसकी तो बात ही क्या। आज हम बहुत ही सिम्पल और बिन खोए के आपको हलवाई की तरह ही “गुलाब जामुन बनाने की विधि ” बताएंगे। 

 इस सिम्पल विधि द्वारा आप कहीं पर भी तथा कभी भी जब भी आपका या आपके परिवार का मन करे गुलाब जामुन बनाकर खा सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं गुलाब जामुन बनाने की विधि (Gulab Jamun Recipe in Hindi) जिसके लिये आपको नीचे दिये गए आसान से स्टेप्स फॉलो करने है।

सबसे पहले हमें अपना खोया तैयार करना होगा। इसके लिए 

  • सबसे पहले आप एक कढ़ाई ले लें। इसमें 1/2 कप दूध, घी 1/4 कप, दूध पाउडर 1.5 कप मिक्स कर के गैस ऑन कर लें। ध्यान रहे आपको गैस इन सबको मिक्स करने के बाद ही ऑन करनी है। आपको इसे चलाते हुए गर्म करना है।
  • जब तक ये खोये के रूप में एक साथ नहीं आ जाता इसको चलाते रहना होगा। अब इसको एक बर्तन में निकाल कर 5 मिनट के लिए रख दें। इसको हमे अधिक ठंडा नहीं होने देना है। 
  • चश्न बनाने के लिए हम 3 कप चीनी ले लेंगे। और इसमें 1.5 कप पानी मिलाकर मीडियम फ्लेम में चलाते हुए गर्म करना है। जब चीनी चाशनी में 4 से 5 इलाइची का पाउडर, 1चम्मच गुलाब जल तथा केसर यदि हो , डाल देंगे। अब इसको 5 मिनट तक मिडियम फ्लेम पर ही पका लें। 
  • 5 मिनट होने के बाद हम जो खोया बनाया था उस बैटर को गुलाब जामुन का शेप देंगे। इसके लिए हम इसमें 3 से 4 चम्मच मैदा ऐड करेंगे। इसके बाद इसमें  1/4 चम्मच बेकिंग पाउडर, 1 चम्मच पानी या गुलाब जल डालकर अच्छी तरह मिक्स कर देना है। अब इसको अच्छी तरह मैश करते हुए मिक्स करें। 
  • गुलाब जामुन का आटा अच्छी तरह से तैयार हो जाने के बाद उसके छोटे छोटे पीस बनाकर उन्हें गोल शेप दें। अब हम इसे फ्राई करेंगे।
  • गुलाब जामुन को फ्राई करने के लिए, एक कढ़ाई लेंगे और उसमें रिफाइन्ड आयल डालकर लो फ्लेम में गैस पर रख लेंगे। जब तेल का टेम्प्रेचर लगभग 100 डिग्री तक हो जाए तो इसमें गुलाब जामुन की लोइयां डालना स्टार्ट कर दें। इनको चलाते हुए ब्राउन होने तक पकाएँ। 
  • अब गरमागरम गुलाब जामुन को गरम चाशनी मे डाल दें। इसको लगभग 1/2 घण्टा रेस्ट करने के लिए रख दें ताकि गुलाब जामुन अच्छी तरह से चाशनी को पी ले। 

अब मीठी मीठी चाशनी के साथ गुलाब जामुन निकाल कर सर्व करें। 


सावधानियाँ और सुझाव


गुलाब जामुन बनाते समय आपको निम्न बातों का ध्यान रखने की आवश्यकता है, जिनका ध्यान रखकर आपके गुलाब जामुन बिल्कुल बढ़िया और स्वादिष्ट बनेंगे।

  1. गुलाब जामुन के लिए चाशनी बनाते समय हमें ध्यान देना होगा कि चाशनी ज्यादा होनी चाहिए। जीससे कि गुलाब जामुन उसमें डूब जाए। तभी ये रस को अच्छी तरह से ऑब्जर्व कर सकेंगे। और साथ ही चाशनी गुनगुनी होनी चाहिए। न ही ज्यादा गरम और न ही ठंडी।
  2. चाशनी बनाते समय बर्तन या कढ़ाई के किनारे चीनी क्रिस्टल रूप में आने लग जाती है। तो यदि आप थोड़ा सा घी इसमें लगा देंगे तो यह चीनी वापस से चाशनी में चले जाएगी। हलवाई लोग भी चाशनी बनाते समय इसी ट्रिक का यूज़ करते हैं।
  3. गुलाब जामुन की लोइयां बनाने वाले बैटर को बिल्कुल ठंडा नहीं होने देना है। इसे हमे हल्के गर्म रहने पर ही शेप देना होगा क्योंकि ज्यादा ठंडा होने पर गुलाब जामुन फटने लगते हैं।
  4. हमने बिना खोए के ही गुलाब जामुन बनाए हैं इसलिए मैदा मिलाने के बाद हमे इसे अच्छी से बहुत देर तक हाथों की सहायता से मैश कर लेना है । यदि हम खोए का यूज कर रहे होते तो इसकी जरूरत नहीं होती।
  5. गुलाब जामुन की गोलियों को तलने वाला तेल बिल्कुल धुआँदार गर्म नहीं होना चाहिए। इसका टेम्परेचर लगभग 100 डिग्री के आस पास होना चाहिए। नहीं तो गुलाब जामुन जल सकते हैं।
  6. तेल में तलते समय हमें गुलाब जामुनों को चलाते हुए तलना है। ताकि वे सभी तरफ से बराबर पक जाएँ, नहीं तो गुलाब जामुन कच्चे रह सकते हैं या जल सकते हैं। तो इस बात का आपको खास खयाल रखना है।

तो ये थे स्वादिष्ट Gulab Jamun Recipe in Hindi कुछ टिप्स एंड ट्रिक्स जिसकी सहायता से आपके गुलाब जामुन एकदम परफेक्ट और बिल्कुल हलवाई की ही तरह बनेंगे।

Also Read : गाजर का हलवा बनाने की विधि


Conclusion


गुलाब जामुन का तो नाम सुनकर ही मुह में पानी आने लग जाता है। इसकी मिठास मानो दिल के अंदर जाकर उसे छू जाती है। गुलाब जामुन के टेस्ट को देखकर ऐसा लगता है,

कि इसको बनाना बहुत कठिन होगा। लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। कोई भी इसे अपने घर पर ही बनाकर खा सकता है।

घर मे बनी हुई कोई भी चीज टेस्टी तो होती ही है साथ ही हेल्दी भी होती है। क्योंकि इसमें स्वच्छता का भी खास ध्यान रखा जाता है। यदि आप भी गुलाब जामुन घर पर बनाना चाहते हैं,

और आपको इसको बनाने में दिक्कत हो रही है, तो आप गुलाब जामुन बनाने की विधि (Gulab Jamun Recipe in Hindi) द्वारा टेस्टी और हेल्दी गुलाब जामुन बनाकर खुद भी और अपने रिश्तेदारों और परिवार वालों को खिला सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.