गाजर का हलवा बनाने की विधि | Gajar ka Halwa Banane ki Vidhi


Gajar ka Halwa Banane ki Vidhi


Gajar ka Halwa Banane ki Vidhi


गाजर का हलवा बहुत तरीको से बनाया जाता है। आज हम एक सिम्पल गाजर का हलवा बनाने की विधि (Gajar ka Halwa Banane ki Vidhi) के बारे में जानेंगे जिससे कि आप कम और घर में ही उपलब्ध सामग्रियों का उपयोग करके स्वादिष्ट और पौष्टिक गाजर का हलवा बना सके।

  • व्यंजन का नाम- गाजर का हलवा
  • बनने में समय – 1 घण्टा
  • क्वांटिटी – 3 से 4 लोगो के लिए।

गाजर का हलवा बनाने की विधि में आवश्यक सामग्री


गाजर का हलवा बनाने की विधि


  1. किग्रा गाजर – 1.5 किलोग्राम
  2. चीनी – 200 ग्राम
  3. दूध – 300 मिलीलीटर
  4. काजू – 25 ग्राम
  5. बादाम – 25 ग्राम
  6. घी -2 से 3 बड़े चम्मच

Short Gajar ka Halwa Banane ki Vidhi-


कई लोग खोए वाला गाजर का हलवा ही पसन्द करते हैं। परंतु यह दूध वाला सिम्पल गाजर का हलवा भी खोए वाले गाजर के हल्वे जितना ही टेस्टी होता है औऱ कम सामग्री में बन भी जाता है।

गाजर का हलवा बनाने के लिए

  • सबसे पहले गाजर को अच्छी तरह धोकर छील लें। अब उसे कद्दूकस की सहायता से कद्दुकस कर लें। बादाम व काजू के भी छोटे छोटे पीस तैयार कर लें।
  • हलवा बनाने के लिए एक पैन ले और उसे हाई फ्लैम पर गैस पर गर्म होने के लिये रख दें। अब इसमें 3 बड़े चम्मच घी डालकर थोड़ा गर्म करें। घी गरम हो जाने के बाद इसमें कद्दूकस की हुई गाजर डाल दें। ध्यान रहे गाजर का पानी न डालें इससे हलवा अधिक गीला हो जाएगा।
  • अब गाजर को बड़े चम्मच की सहायता से घी में मिक्स कर लें। जब गाजर घी में अच्छी तरह से मिक्स होने लगेगा तो उसका कलर चेंज हो जाएगा। तो गाजर का कलर चेंज होने तक गाजर को घी में भूनते रहें। इसको भुनने में लगभग 20 से पच्चीस मिनट तक का समय लगेगा। इसको हमे ढककर नहीं पकाना है।
  • 20 मिनट बाद आप देखेंगे कि गाजर की जो क्वांटिटी है वह आधी हो चुकी है। इसका मतलब है कि आपका गाजर अच्छी तरह से पक चुका है।
  • अब गैस को हाई फ्लेम पर करके 8 से 10 मिनट तक के लिये हाथ से चलाकर थोड़ा और भूनेंगे। अब आपको, गाकर पूरी तरह से गलकर पक चुका है और अपनी रियल क्वांटिटी से थोड़ा और कम जैसा लगेगा।
  • अब गैस का फ्लेम कम करके इसमें 300 मिली दूध डाल दें। दूध को अच्छी तरह से गाजर में मिक्स कर लें। अब पैन को ढक्कन से ढककर 20 मिनट तक पकने के लिये रख दें। 20 मिनट के दौरान इसे चलाते हुए चेक करते रहें, ताकि हलवा नीचे से जले नहीं।
  • 20 मिनट बाद पैन का ढक्कन हटा लें, गैस का फ्लेम कम ही रहने दें। और 1 बार हलवे को अच्छे से चला लें। अब आपका गाजर दूध में भी अच्छी तरह से पक चुका है। इसके ऊपर से इसमें 200 ग्राम चीनी डालें। चीनी को हल्वे में अच्छी तरह से मिक्स करने के बाद इसमें कटे हुए काजू और बादाम भी डाल दें। इसके अलावा आपको जो भी ड्राई फ्रूट पसन्द है आप वह भी डाल सकते हैं। अब इन सभी चीजों को एकसमान वितरित करने के लिए 1 बार और हल्वे को अच्छे से चला लें।
  • अब हम हलवे को ढक्कन से कवर कर के लो फ्लेम पर 10 से 15 मिनट तक और पका लेंगे। लेकिन इसे बीच बीच मे चलाते रहेंगे नही  तो हलवा नीचे से जलने लगेगा और हलवे का टेस्ट बिगड़ जाएगा।
  • अब अंत में पैन से ढक्कन हटाकर 2 से 3 मिनट तक फिनिशिंग के लिए भून लें। गैस ऑफ कर दें। गरमागरम गाजर का हलवा तैयार है। इसे प्लेट में सर्व कर के सबको खिलाएं।

सावधानी और सुझाव


कम सामग्री से अच्छा औऱ स्वादिष्ट हलवा बनाने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा जिससे कि आपका हलवा टेस्टी बने।

  • गाजर का हलवा बनाने में टाइम लगता है तो कृपया गाजर का हलवा बनाते समय धैर्य बनाए रखें।
  • गाजर के हल्वे को घी में ही बनाएं। घी से इसका टेस्ट कई गुना बढ़ जाता है।
  • घी में कद्दुकस किये हुए गाजरों को डालने से पहले उसमे मौजूद एक्स्ट्रा पानी हटा लें। क्योंकि हमें गाजर को दूध में भी पकाना है म यदि गाजर में पानी रह गया तो गाजर का हलवा ज्यादा गिला हो जाएगा।
  • जब आप गाजर को ढककर पका रहे हों तो उसे 2 से 3 मिनट में चलाते रहें। नहीं तो हलवा जल सकता है और आपकी पूरी मेहनत बर्बाद हो सकती है।
  • इसको आप कुकर में भी बना सकते हैं।

गाजर का हलवा खाने से लाभ


गाजर का हलवा हमारी सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है।

  • गाजर में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जिसमे की कैरिटोनाइड, पोटेशियम, विटामिन ए आदि सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं। गाजर के हलवे के रूप में ये सभी पोषक तत्व हमे मिल जाते हैं।
  • यह ब्लड को प्यूरीफायर करता है।
  • गाजर के हल्वे को सर्दियों में सुपरफूड कहा जाता है।
  • गाजर यूवी किरणों को अवरुद्ध कर तवचा को हेल्दी रखने में भी मदद करता है।

Also Read : Biryani Bnane ki Vidhi


Conclusion | गाजर का हलवा बनाने की विधि


गाजर का हलवा सभी को पसंद होता है। अगर खाने के बाद डेसर्ट में यदि गाजर का हलवा मिल जाए तो क्या कहने। Gajar ka Halwa Banane ki Vidhi से आप बिल्कुल ही सिपंल तरीके से खुशबूदार और टेस्टी हलवा बना सकते हैं। जो कि बहुत पौष्टिक भी होता है। 

 कहते हैं कि हलवा सेहत के लिए भी बहुत अच्छा होता है। जो लोग अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं उन्हें हलवा खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन किसी किसी को नॉर्मल हलवा पसन्द नहीं होता,

तो ऐसे लोगों को यह दूध वाला गाजर का हलवा बनाने की विधि बनाकर खिलाया जा सकता है। गाजर का हलवा खोए से या दूध से किसी भी चीज की मदद से बनाया जा सकता है।

इसके अलावा गाजर में बहुत प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। जिससे कमजोरी और कई प्रकार की परेशानियों को कम किया जा सकता है। घी सेहत और हड्डियों की मजबूती के लिए कितना आवश्यक होता है यह तो सभी जानते हैं।

तो जब हम गाजर का हलवा खाते हैं तो सभी पौष्टिक तत्व हमे एक साथ मिल जाते हैं। ठंड़ीयों में तो इसको खाना और लाभदायक होता है। लेकिन आपका जब भी मन करे तब आप इस Gajar ka Halwa Banane ki Vidhi से गाजर का हलवा बना सकते हैं।

आज की Gajar ka Halwa Recipe in Hindi बहुत ही सरल तरीके से बनाई गई विधि थी। इसको कहीं भी कभी भी बिना खोए के ही बनाकर खा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.