Dusra Kalma Shahadat in Hindi with Meaning | दूसरा कलमा शहादत हिंदी में

आज हम जानेंगे दूसरा कलमा शहादत हिंदी में (Dusra Kalma Shahadat). और उसी के साथ जानेंगे कलमा ए शहादत का अर्थ और इसे पढ़ने के कुछ फायदे (Meaning and Benefits), तब चलिए शुरू करते हैं Dusra Kalma in Hindi.


Dusra Kalma in Hindi


Dusra Kalma Shahadat in Hindi


अश-हदु अल्लाह इल्लाह इल्लल्लाहु वह दाउ
ला अरब-क लहू व अशदुहु अन्न मुहम्मदन अब्दुहु वरसुलुहु।


दूसरा कलमा शहादत हिंदी में (Kalma Shahadat Meaning)-


मैं गवाही देना चाहता हूँ, की खुदा ही कायनात में सबसे बड़ा है, और उसके सिवा कोई भी ममुद नही है, वह ही एक केवल ऐसा है, जो पूजने लायक है। मैं यह भी गवाही देना चाहता हूँ, की हज़रत मोहम्मद सल्ललाहो अलेहि वसल्लम खुदा के एक नेक बन्दे और कायनात में उतरे आखिरी रसूल हैं।

यह भी पढ़ें- पहला कलमा तय्यब

यह भी पढ़ें- तीसरा कलमा


दूसरा कलमा (Kalma e Shahadat) क्या है?


क़ुरान में सारे कलमों की संख्या 7 है, परन्तु उनमें से ज्यादातर लोग 5 ही कलमे पढ़ते हैं, इन्ही में से एक है, दूसरा कलमा (Dusra Kalma in Hindi ) जिसे कलमा ए शहादत के नाम से जाना जाता है, इस कलमे में खुदा के ममुद होने के बारे में बताया गया है,

तथा बताया गया है, कि उनके जितना बल वाला कोई भी नही है। और हज़रत मुहम्मद स अ व. के बारे में बताया गया है, की वे ही खुदा के द्वारा कायनात में भेजे गए आखिरी नबी हैं।

दूसरे कलमे शहादत को पढ़ने के साथ ही में इसे समझना भी बहुत जरूरी है, जिससे कलमा ए शहादत को पढ़ना का फायदा, पढ़ने वाले को मिल सके।


दूसरे कलमे (Shahadath Kalima) को कब पढ़ें


दूसरे कलमे ( शहादत ) को पढ़ने का वैसे तो कोई नियम कानून नहीं बताया गया है, परन्तु आप बा वजू होकर नमाज़ के बाद इस कलमे (2nd Kalma in Hindi) को पढ़ सख्ते हैं।

यह भी पढ़ें- चौथा कलमा

यह भी पढ़ें- दुआ ए कुनूत


दूसरे कलमे के बारे में (About Dusra Kalma Hindi Mein)


2nd Kalma in Hindi- दूसरा कलमा शहादत हिंदी में


ज्यादातर लोग दूसरे कलमे को कलमा ए शहादत (Dusra Kalma Shahadat) के नाम से जानते हैं, कलमा ए शहादत पाँचो कलमों में से एक बहुत महत्वपूर्ण कलमा है, जिसे पढ़ने के बहुत सारे फायदे हैं, इस कलमे में खुदा की विशालता को बताया गया है, और बताया गया है, की खुदा के के अलावा कोई भी इस पूरी कायनात में पूजने लायक नही है,

इस कलमे में हमारे प्यारे नबी का भी जिक्र देखने को मिलता है, और उनके बारे में बताया गया है, कि वही आखिरी नबी इस कायनात में खुदा के द्वारा उतारे गए हैं। शहादत कलमे को पढ़ने के बहुत सारे लाभ हैं, नो खुदा इस कलमे को सच्चे मन से पढ़ने वाले के ऊपर अता फरमाते हैं। बहुत सारे जानकारों का कहना है,

कि इस कलमे को पढ़ने से उनकी जिंदगी में बहुत सारे बदलाव आए हैं। और अगर कोई भी अपने जीवन मे बदलाव लाना चाहता है, तो उसे यह कलमा (Dusra Kalma in Hindi ) जरूर पढ़ना चाहिए। इस कलमे में हमारे प्यारे नबी का जिक्र होने के कारण इसे और भी खास माना जाता है। इसलिए हमें इस कलमे का सच्चे मन से रोजाना जाप करना चाहिए।


दूसरे कलमे को पढ़ने के फायदे (Benefits of 2nd Kalima)


dusra kalma shahadat benefits


दूसरे कलमे को पढ़ने के बहुत से फायदे हैं, जो खुदा कलमा ए शहादत को रोजाना पढ़ने वाले को अता फरमाता है। इस कलमे को पढ़ने के कुछ मुख्य फायदे नीचे दिए गए हैं-

1. इस कलमे को सुबह पढ़ने से पूरा दिन अच्छा बीतता है, और शरीर मे एक प्रकार की पोसिटिव ऊर्जा बनी रहती है।

2. कलमा ए शहादत (Shahadath Kalima) को रोजाना पढ़ने से खुदा का हाथ हमारे ऊपर सदा बना रहता है, और हमारे काम और पढ़ाई में बरक्कत आती है।

3. दूसरा कलमे को सही तरीके से पढ़े जाने पर खुदा हमारे द्वारा हुए सभी प्रकार के गुनाहों को माफ कर देते हैं।

4. दूसरे कलमे को रोजाना पढ़ने से बीमारियों से छुटकारा मिलने लग जाता है, और स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

5. इस कलमे (Dusra Kalma Shahadat) को पढ़ने से काम मे तरक्की होना शूरु हो जाती है, और पढ़ाई में भी मन लगने लग जाता है।

दूसरे कलमे ( कलमा ए शहादत ) पढ़ने के और भी कई सारे फायदे हैं, जो इसे पढ़ने वाले को मिलते हैं, इसलिए हमें रोजाना बा वजू होकर दूसरे कलमे का पाठ करना चाहिए, और अगर आप भी अभी तक कलमा ए शहादत को नही पढ़ते थे, तब आज से ही शुरु कीजिये, दूसरे कलमे को पढ़ना, और देखिए अपने जीवन मे होने वाले परिवर्तन।


Conclusion | कलमा ए शहादत


आज आपने जाना दूसरा कलमा शहादत हिंदी में (Dusra Kalma Shahadat in Hindi).  और साथ मे ही जाना दूसरे कलमे का अर्थ और कलमे शहादत को पढ़ने के कुछ मुख्य फायदे (Kalma e Shahadat Meaning and Benefits)।

आशा करते हैं, आपको आज की हमारी यह पोस्ट पसन्द आयी, ऐसी ही अन्य जानकारीपूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए बने रहिए हमारे साथ, और विजिट करते रहिए aayatsays पर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.