Best Safar Ki Dua in Hindi | सफर की दुआ हिंदी में- Safar Me Jane ki Dua

आज हम पढेंगे सफर की दुआ हिंदी में (Safar Ki Dua in Hindi). उसी के साथ हम जानेंगे, सफर की दुआ का अर्थ और इसे पढ़ने के कुछ फायदे (Meaning and Benefits). तब चलिए शुरू करते हैं Safar Me Jane ki Dua.


Safar ki Dua in Hindi


Safar Ki Dua in Hindi


चाहें किसी भी प्रकार का सफर हो, सफर की दुआ पढ़कर किया गया सफर सुरक्षित होता है, और खुदा हमपर महरबान रहते हैं।


पहली सफर की दुआ हिंदी में –


इस सफर की दुआ को आप बस, रेलगाड़ी, मोटरसाइकिल, प्लेन, या किसी भी सवारी गाड़ी में सफर करते समय पढ़ सकते हैं।

” सुब्हानल्लज़ी सकेखर लनाहाज़ा,
वमा कुन्ना लहू मुक़रिअन,
वना इला रब्बीना लमुनक़लिबुन।। “

अर्थ- खुदा बड़ा महरबान है, जिसने इसको हमारे बस में कर दिया, नहीं तो इसे बस में करने की हमारे पास ताकत नहीं थी। हमको बेशक अभी वापस खुदा की तरफ ही लौटकर आना है।


दूसरी सफर की दुआ हिंदी में –


पानी के जहाज और और नाव में जाते समय आप इस सफर की दुआ (Safar ki Dua) को पढ़ सकते हैं।

” बिस्मिल्लाही मज़रीहा व मूरसाहित्य,
इन्ना रब्बी आ गूफुर्रहीम।। “

अर्थ- खुदा ही इसको चला और रोक सकता है। हमारा रब बेहद ही ही महरबान और रहमदिल है।

यह भी पढ़ें- सोने की दुआ

यह भी पढ़ें- सुबह की दुआ


सफर की दुआ (Safar Me Jane ki Dua) को कैसे पढ़ें?


सफर की दुआ हिंदी में


किसी भी सफर में जाने से पहले बा वजू हो लें, यह सफर में जाने का सुन्नति तरीका है। इसके बाद आप जिस भी वाहन से सफर कर रहे हों, उस पर चढ़ते समय सफर की दुआ को पढ़ें।


1st Safar ki Dua Hindi Mein –


ऊपर हमने सफर में जाते समय पढ़ी जाने वाली पहली दुआ (Safar ki Dua Hindi Mein) बताई है, जिसे आपको ज्यादातर जमीन और हवा में चलने वाले वाहनों में सफर करते समय पढ़ना है जैसे- कार, बाइक, बस, ट्रेन, एरो प्लेन, हवाई जहाज।

यह याद रहे, की यदि आप सफर में आने से पहले इस दुआ को पढ़ना भूल गए हों, तब आप इसे सफर के दौरान भी पढ़ सकते हैं। इस दुआ को पढ़ने से आपको सफर में होने वाली बहुत सारी परेशानियों से छुटकारा मिलेगा, और सफर भी बिल्कुल सुरक्षित बीतेगा।


2nd Safar ki Dua Hindi Me-


दूसरे नम्बर पर भी एक सफर की दुआ बताई गई है, इस सफर की दुआ को आप पानी मे चलने वाले उपकरणों के साथ सफर करते समय पढ़ सकते हैं। जैसे- पानी का जहाज, क्रूज, नाव, तथा अन्य पानी मे चलने वाले उपकरणों पर।

इस दुआ को भी अगर आप सफर में आने से पहले पढ़ने भूल जाते हैं, तब आप इसे बाद में पढ़ सकते हैं। इस सफर की दुआ को पढ़ने पर पानी के सफर में होने वाली समस्त प्रकार की परेशानियां आपसे दूर हो जाएंगी, और आपका सफर आसान तरिके से बीतेगा।


सफर की दुआ को पढ़ने के फायदे –


Benefits of Safar me Jane ki Dua


सुन्नतों में बताया गया है, की हमे किसी भी सफर में जाने से पहले सफर की दुआ को जरूर पढ़ना चाहिए। किसी भी सफर की शुरुआत करने से पहले सफर की दुआ को पढ़ने के बहुत सारे फायदे हैं, इनमें से कुछ मुख्य फायदे नीचे दिए गए हैं-

1. सफर की दुआ (Safar me Jane ki Dua) पढ़कर किये गए सफर की शुरुआत सुन्नति है। और इसे इस्लाम धर्म मे दुआ पढ़कर सफर करना बहुत अच्छा माना जाता है।

2. सफर की दुआ पढ़कर सफर की शुरुवात करने से खुदा पूरे सफर में हमारी रक्षा करते हैं। और सफर सुरक्षित और आसान हो जाता है।

3. सफर की शुरुवात करने से पहले सफर की दुआ (Safar Karne ki Dua) पढ़ने से रास्ते मे आने वाली सभी प्रकार की परेशानियों से खुदा हमारी रक्षा करते हैं।

4. इस दुआ को पढने से हमारे साथ रास्ते मे कोई अनहोनी होने का खतरा न के बराबर होता है, क्योंकि खुदा हमारी देखभाल कर रहे होते हैं।

5. सफर की दुआ (Safar me Jane ki Dua) पढ़ने से हमारा मन ताज़ा रहता है, आलस नही आता। और सफर आसानी और बिना किसी परेशानी के बिट जाता है।

सफर की शुरुवात करने से पहले सफर की दुआ (Safar ki Dua in Hindi) पढ़ने के और भी कई सारे फायदे हैं, जो हमको सफर की दुआ पढ़ने के बाद खुदा अता फरमाता है। इसलिए कभी भी सफर में जाने से पहले इस दुआ को जरूर पढ़ना चाहिए।

यह भी पढ़ें- आयतुल कुर्सी

यह भी पढ़ें- दुआ ए कुनूत


सफर करते समय सावधानियां-


Safar ki Dua Hindi Mein


सफर की दुआ (Safar ki Dua Hindi Mein) को पढ़ने के साथ साथ ही आपको किसी भी प्रकार के सफर में जाते समय कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए, जिसके कारण आपके साथ कोई अनहोनी या घटना न हो, और आपका सफर आसान, यादगार और अच्छा बीते, कुछ सावधानियां हमने नीचे बताई हैं, जो सफर पर जाते समय आपको ध्यान में रखनी चाहिए।


1. ट्रेन पर सफर करते समय सावधानियां-


रेल यात्रा के समय आपकी थोड़ी सी भी लापरवाही, बहुत बड़ी परेशानी की वजह बन सकती है, ऐसे में आपको कुछ बातें रेलगाड़ी में सफर करते समय ध्यान में रखने चाहिए।

1. ट्रेन में चढ़ते समय सफर की दुआ पढ़कर अपनी सीट पर जाकर बैठ जाएं, के बार देखा गया है, की कुछ लोग खिड़की में हाथ टिकाकर या दरवाजे में खड़े होकर फोन चलते रहते हैं, जिससे उनके साथ दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है।

2. कुछ लोगों में यह प्रवृत्ति होती है, की वे ट्रेन के डिपार्चर होने के साथ ही स्टेशन पर आते हैं, और भागते हुए ट्रेन को पकड़ते हैं, ऐसे में वे अपने जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे होते हैं। हमेशा ट्रेन छूटने से 10 से 15 मिनट पहले स्टेशन पर आएं।

3. वयस्क बनें, अपने ही साथ सफर कर रहे, और दूसरे छोटे और बूढ़े लोगों का ख्याल रखें, जिससे खुदा आपके ऊपर महरबान रहेगा। और सफर की दुआ (Safar Par Jane ki Dua) पढ़ने का आपको फायदा भी होगा।

4. अगर आप रेलवे परिसर में कान में इयरफोन लगा घूम रहे होते हैं, तब आप किसी बड़ी परेशानी का शिकार हो सकते हैं, इसलिए कान में ईअरफ़ोन न लगाएं, और सफर की दुआ को पढ़ें। और सुरक्षित रहें।

5. रेलगाड़ी से सफर करते समय बहुत से लोग अपनी कोहनी या अपना हाथ खिड़की से बाहर निकाले रहते हैं, जिससे उनके साथ कभी भी कोई बड़ी समस्या हो सकती है, इसलिए कभी भी खिड़की से हाथ बाहर न निकालें, और यदि आपके साथ कोई और भी सफर कर रहा है, तो उसको भी न निकालने दें।


2. एरो प्लेन में सफर करते समय ध्यान रखने वाली बातें


कुछ लोग एरो प्लेन में सफर करना बहुत अच्छा और रोमांचक मानते हैं, और कुछ लोग इसे डरावना या कम अच्छा मानते हैं, और बस या ट्रेन द्वारा ही सफर करना अच्छा मानते हैं, पर एरो प्लेन में सफर करना समय की बचत करता है, और यदि आप एरो प्लेन में सफर करते हैं,तब आपको इन बातों का ख्याल रखना जरूरी है, याद रहे एरो प्लेन में सफर करते समय सफर की दुआ (Safar ki Dua Hindi Me) को जरूर पढ़ें।

1. सफर में जाते समय सफर की दुआ जरूर पढ़ें, यदि आप प्लेन में चढ़ने से पहले सफर की दुआ (Safar Karne ki Dua) पढ़ना भूल गए हों, तब आप यह दुआ सफर के बीच मे भी पढ़ सकते हैं।

2. यात्रा शुरु होने से पहले जल्द से जल्द एअरपोर्ट पहुचने की कोशिश करें, वैसे तो यह समय 2 घंटे पहले पहुचने का होता है, पर अगर आप 2.5 घंटे भी पहले पहुचेंगे, तब आपको समय के कारण किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। इसलिए एअरपोर्ट समय पर आये।

3. प्लेन में यात्रा करते समय अपने पास जरूरी परिचय का सामान जैसे कि वोटर आईडी, पेन कार्ड, पासपोर्ट जरूर साथ मे रखें, जिससे आपको पहचान सम्बन्धी किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न हो।

4. प्लेन के टेक ऑफ करते समय हमेशा सीट बेल्ट को बांधें। जिससे आपकी सुरक्षा बरकरार रहेगी।

5. कुछ लोग ऐसे होते हैं, और यह एक आम बात भी है, जब प्लेन टेक ऑफ होता है, तब कुछ लोगों को कान में हल्की सी झनझनाहट होती है, अगर आप भी उन्हीं में से एक हैं, तब टेक ऑफ के समय इयरफोन या एरबड्स का प्रयोग करें। ऐसा करने से आपको कानों में झनझनाहट नही होगी। और आपका सफर आसान रहेगा।


3. बस में यात्रा करते समय ध्यान में रखने वाली बातें


काफी लोग ट्रेन या प्लेन से सफर नहीं करते, उन्हें बस से सफर करना पसन्द होता है, या बहुत सारी ऐसी जगहें हैं, जहां पर ट्रेन या प्लेन की सुविधा अभी उपलब्ध नहीं है। ऐसे में लोगों को बस में ही सफर करना पड़ता है। अगर आप भी बस में सफर करते हैं, तब इन बातों का खास ख्याल रखें-

1. हमेशा बस में चढ़ते समय सफर की दुआ (Safar ki Dua in Hindi ) पढ़ना न भूलें, इस करने से खुदा आपकी रास्ते भर में हिफाजत करेगा, और आपको किसी भी परेशानी का सामना नही करना पड़ेगा। इसलिए सफर की दुआ जरूर पढ़ें।

2. बहुत से लोगों का मानना है, कि बस का सफर बहुत ज्यादा बोरिंग और आलस भरा होता है, और कई लोगों को तो बस में उल्टी भी आती है, तभी बस में किसी के साथ सफर करना सही रहता है। ऐसा करने से सफर कब बिट गया पता ही नहीं चलता, और सफर आसान हो जाता है।

3. बस के सफर में अगर आपको उल्टी आती है, तब आप अपने साथ शिकंजी घर से ला सकते हैं, इसको पाइन से उल्टी नहीं होगी, और सफर आसान व रोमांचक बीतेगा।

4. बस में आग आप अकेले सफर कर रहें हैं, तब आप फ़ोन में गाने सुन सकते हैं, या कोई अच्छी फिल्म देख सकते हैं, जिससे आपका समय जल्दी गुजर  जाएगा, और आपको समय भी ज्यादा नही लगेगा।

4. बस में सफर करते समय एक बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है, की कभी अपना हाथ खिड़की से बाहर न निकालें, और यदि आपके साथ कोई बच्चा भी सफर कर रहा है, तब उसपर भी अपनी नज़र बनाए रखें। बहुत बार देखा गया है, लोगों के साथ खिड़की से हाथ बाहर निकलने पर बहुत सी बड़ी घटनाएं हुई हैं, इसलिए खिड़की से बाहर हाथ न निकाले, और न निकालने दें।

5. आपने जानी कुछ बातें, जो हमे सफर पर निकलते समय अपने ध्यान में रखनी चाहिए। सफर की दुआ (Safar Karne ki Dua) पढ़ने के साथ ही यह बातें हमारे लिए बहुत जरूरी हैं, जिनसे हमारा सफर आसान और बिना किसी परेशानी के बीते। इसलिए कभी भी सफर पर जाते समय सफर की दुआ जरूर पढ़ें।


Conclusion | Safar ki Dua


आज आपने जानी सफर की दुआ (Safar ki Dua in Hindi). उसी के साथ जाना सफर की दुआ कों पढ़ने के कुछ फायदे (Meaning and Benefits of Safar mein Jaane ki Dua), और सफर में ध्यान रखने वाली बातें।

आशा करते हैं, आपको आज की हमारी यह पोस्ट पसन्द आई होगी, और इस पोस्ट से बहुत कुछ नया सींखने को मिला होगा। इसी तरह की ज्ञानवर्धि पोस्ट पढ़ने के लिए बने रहें हमारे साथ, और विजिट करते रहें Aayatsays पर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.