पवित्र पुस्तक कुरान की जानकारी और महत्त्व | About Holy Book Quran in Hindi

आज हम देखेंगे कुरान की जानकारी और इतिहास। इसी के साथ जानेंगे कुरान के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्य और बातें। तब चलिए देखते हैं, About Holy Book Quran in Hindi


कुरान की जानकारी


कुरान की जानकारी


कुरान का अर्थ स्वयं कुरान में ही दिया गया है, जिसका मतलब है- ” उसने पढा “। विश्व मे इतने सारे धर्म हैं, जहां की संस्कृति, भाषा, रूप रंग अलग अलग हैं। 

अलग अलग धर्मों के धर्म ग्रन्थ भी अलग होते हैं, जैसे इस्लाम मे कुरान तो हिन्दू धर्म मे गीता। कुरान को इस्लाम धर्म मे सबसे पाक किताब माना जाता हैं।

और यह मान्यता है, की कुरान अल्लाह द्वारा भेजी गई सर्वोच्च और सबसे आखरी किताब है। दोस्तों कुरान को खुदा ने अपने एक फरिश्ते, द्वारा पैगम्बर मुहम्मद साहब को सुनाया था। 

लेकिन जब मुहम्मद साहब का स्वर्गवास हुआ, तब सन 633 ईसवी में कुरान को पहली बार लिखा गया था। और सन 653 से कुरान की अनेकों प्रति छापकर इस्लाम धर्म के लोगों को बाटा गया।

कुरान में अल्लाह द्वारा भेजे हुए सन्देशों को लिखा गया है, ऐसा मानना है, की सम्पूर्ण कुरान को बनाने में 23 साल का समय लगा। 

कुरान में कुल मिलाकर 30 खण्ड हैं, और इसमें 114 सूरतें हैं। 114 सूरतों में कुल मिलाकर 558 रकु हैं। तथा पूरी कुरान में 6236 वर्सेस हैं। कुरान में कुल वाक्यों की संख्या 77439 है। सम्पूर्ण कुरान में कुल सजदों की संख्या 14 है।

सम्पूर्ण कुरान मानव अधिकारों, समानता, अल्लाह के अस्तित्व पर आधारित है।

यह भी पढ़ें- इस्लाम की जानकारी


कुरान का वर्णन


कुरान में कुल सूरतों की संख्या 114 है, जो सूरह अल फातिहा से शुरू होकर सूरह अल निशा पर खत्म होती हैं। कुरान की हर सूरह में एक अर्थ छिपा है।

और हर सूरह का अपना ही अलग महत्व होता है। 

जिनमे अल्लाह के अस्तित्व और अन्य चीजों के बारे में व्याख्या की गई है। कुरान की ऐसी भी कई सारी सूरह हैं, जिन्हें बहुत महत्वपूर्ण समझा जाता है, जैसे दूसरी सूरह जिसे सूरह अल बकराह कहते हैं,

इसकी 255 वीं आयत आयतुल कुर्सी बताई गई है। 

यह आयतुल कुर्सी इस्लाम मे बेहद खास मानी जाती है। इसमे अल्लाह के महत्व के बारे में बताया गया है। आयतुल कुर्सी की जैसे ही और भी बहुत से ऐसे आयत कुरान में है,

जिनका इस्लाम मे बेहद महत्व है, और इन्हें समय समय पर पढा जाता है। 

कुरान के बारे में एक खास बात यह भी है, की जब से आज तक यह आयी है, तब से इसमे किसी भी प्रकार का संशोधन, या फेर बदल नहीं किया गया है। इसी कारण इसे इस्लाम की सबसे पाक किताब माना जाता है।


कुरान के आदेश


कुरान का महत्त्व


दोस्तों कुरान में कुछ महत्वपूर्ण आदेश दिए गए हैं, जो इस्लाम मे सर्वोपरि माने जाते हैं, अगर हम इन आदेशों को अपने जीवन मे उतारते हैं, तो हमारा जीवन पूर्ण रूप से बदल सकते हैं, इन्हीं में से कुछ चुनिंदा कुरान के आदेश हमने नीचे बताए हैं, जिन्हें आपको जरूर जानने चाहिए।

  1. अपने आस पास के सभी लोगों, जीव जंतुओं से हमेशा प्रेम से रहें। हमेशा सभी की इज्जत करें।
  1. हमेशा अपने वालिद यानी माँ-पिता का सम्मान करें। इससे खुदा आपको हमेशा खुश रखेगा।
  1. कभी भी किसी को भूखा न सोने दें। किसी भी इस्लाम को मानने वाले व्यक्ति के तौर पर यह आपको समझना चहिये।
  1. हमे बेवजह पानी बर्बाद नहीं करना चाहिए। पानी अमूल्य है, इसे सम्भालकर इस्तेमाल करना चाहिए।
  1. आपको अल्लाह ने इस धरती पर जन्म दिया, इसलिए आपको खुदा का शुक्रिया करना चाहिए। आप जितना खुदा को मानेंगे और उनका शुक्रिया करेंगे, खुदा का हाथ आपके ऊपर हमेशा बने रहेगा।
  1. कुरान में किसी भी आदमी के लिए किसी औरत के लिए इज्जत के बारे में बताया गया है। हमे हमेशा किसी भी औरत की इज्जत करनी चहिये।
  1. हमेशा साफ सफाई से रहने का इस्लाम और कुरान में अलग ही महत्व है, इसे इस्लाम मे सुन्नत समझा जाता है। इसलिए हमेशा साफ सफाई से रहना चहिये। और अपने आस पास भी साफ सफाई रखनी चहिये।
  1. हमेशा खुदा पर भरोसा रखना चाहिए, हम किसी भी परेशानी में क्यों न हों, खुदा हमेशा हमारे साथ है, हमे डरने की आवश्यकता नही, बल्कि आत्मविश्वास के साथ उस परेशानी से लड़ने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें- आयत ए करीमा


कुरान के पांच स्तम्भ


About Quran in Hindi


नीचे हमने कुरान का मुख्य उद्देश्य बताया है, जिन्हें कुरान या इस्लाम मे पांच स्तम्भ भी कहा जाता है, इन्हें आपको जरूर जान लेना चाहिए-


शहादत


इसका अर्थ है, की ऊपर वाले को पूजने से है। और मुहम्मद साहब खुदा के भेजे गए आखरी नबी हैं।


नमाज


किसी भी इस्लाम को मानने वाले को दिन में पांच वख्त की नमाज़ पढ़ना सुन्नत है।


जकात


हम जितना भी पैसे कमाएं, उसमे से किसी जरूरतमंद को जरूर दान दें, जिससे खुदा हमारे ऊपर हमेशा अपना हाथ बनाए रखें।


रोजा


साल में एक बार रमजान के महीना आता है, जो इस्लाम मे बेहद पवित्र है। हमे रमजान में 30 दिन पूरे रोजे रखने चहिये।


हज


किसी भी व्यक्ति को अपने पूरे जीवन काल मे एक बार हज जरूर जाना चाहिए।


कुरान और विज्ञान


बहुत सारे ऐसे वैज्ञानिक है, जिन्होंने कुरान में बेहद गहरा शोध किया है, और आखिर में उन्होंने भी कुरान की बातों को सही माना है। कुरान में कुछ ऐसी बातें लिखी हैं, जो वैज्ञानिक रूप से भी बिल्कुल सही हैं। इनमे से कुछ बाते हमने नीचे दी गयी हैं- 

कुरान में बताया गया है, की इंसान की शुरुवात पानी से शुरू हुई है, जो कि विज्ञान भी कहता है।

हमारे पूरे ब्रह्मांड, ग्रह, और उनके कार्यों के बारे में कुरान में बताया गया है। जो कि विज्ञान सही मानता है।

मानव के बारे में कुरान में कुछ ऐसे तथ्य लिखे हैं, जो कि बिल्कुल सही हैं। 

कुरान में रोजे और रमजान रखने के बारे में बताया गया है, जिसके वैज्ञानिक रूप से भी बेहद फायदे है।


Conclusion | कुरान की जानकारी


दोस्तों आज आपने पढ़ी कुरान की जानकारी और महत्त्व। आशा करते हैं, आपको आज की हमारी यह पोस्ट पसन्द आयी, और इससे कुछ नया जानने को मिला।

दोस्तों कुरान इस्लाम की पवित्र पुस्तक है। और इसमें दिए गए, आदेशों को मानना कुरान में बेहद खास और सुन्नत माना जाता है।

आज आपको About Holy Book Quran in Hindi जानने को मिला होगा, अगर आप कुरान नहीं पढ़ते, तो पढा कीजिये। कुरान को पढ़ने से आत्मविश्वास बढ़ता है, और काम मे भी बरकत होती है।

आज की यह कुरान की जानकारी आपको केसी लगी, बताइयेगा जरूर कमैंट्स में, और इसी तरह की जानकारी पाने के लिए बने रहिये हमारे साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.